देश की चौपट अर्थव्यवस्था पर उपराष्ट्रपति दे रहे सफाई

देश के उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडु अबतक उबर नहीं पाए हैं कि अब वे भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता नहीं, बल्कि ऐसे संवैधानिक पद पर हैं, जहां निष्पक्षता बनाए रखना अति आवश्यका है। मगर इससे बेपरवाह उपराष्ट्रपति भारतीय जनता पार्टी को जब भी मुसीबत में घिरा देखते हैं तुरंत बचाव में आ जाते हैं। देश की अर्थव्यवस्था में आई गिरावट के चलते जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इनके वित्त मंत्री अरूण जेटली लगातार पार्टी के अंदर और बाहर विरोध झेल रहे हैं तो एक बार भी उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडु हनुमान बनकर इनके बचाव में आ गए हैं। उन्होंने मोदी सरकार की अर्थव्यवस्था की तारीफ करते हुए विश्व बैंक एवं कुछ उद्योगपतियों का हवाले से कहा है कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से अर्थव्यवस्था में आई गिरावट अल्पकालिक है। बाद में इसका देश पर व्यापक सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। श्री नायडु ने दिल्ली में भारतीय रेलवे एवं मेट्रो में प्रौद्योगिकी उन्नयन पर आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन अवसर पर कहा कि आज कल जीएसटी के असर पर चर्चा हो रही है। अखबारों में प्रमुख रूप से तीन चार खबरें आईं हैं जिनमें से एक में विश्व बैंक के प्रमुख का बयान है कि भारत में जीएसटी के कारण अर्थव्यवस्था में आई गिरावट अस्थायी है। बाद में इसके जबरदस्त प्रभाव दिखाई देंगे। हालांकि, इनके बयान को काटते हुए रायबरेली में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर अर्थव्यवस्था को चौपट करने का आरोप लगाया। इनका कहा है कि पिछले तीन सालों में केंद्र सरकार ने ऐसा कोई काम नहीं किया जिससे देश आर्थिक रूप से मजबूत हो सके।
वह यहां भुएमऊ गेस्ट हाउस में पार्टी कार्यकर्ताओं और प्रतिनिधि मंडलों को संबोधित कर रहे थे।

Related posts

Leave a Comment