विदर्भ के किसानों के लिए काल बने कीटनाशक, 50 की मौत

महाराष्ट्र के किसानों के लिए खेती भारी पड़ रही है। अकाल और सूखे से वे पहले ही अधमरे हैं, कीटनाशकों से भी उनकी जानें जा रही हैं। विदर्भ क्षेत्र के यावातमल से खबर है कि, इस जिले में कीटनाशक का जहर सांस के जरिए शरीर में जाने से 21 किसानों की मौत हो चुकी है। एक समाचार एजेंसी की मानें तो विदर्भ इलाके में अबतक कीटनाशकों के जहर से लगभग 50 किसानों की मौत हो चुकी है और दो हजार के करबी गंभीर रूप से बीमार हैं। कपास की फसल पर कीड़ा लगने से बचाने वाले कीटनाशक का जहर सांस के साथ शरीर में प्रवेश कर जाता है जिसके कारण किसानों की मौत हो रही है। चिंताजकन यह है कि बारबार ऐसी शिकायतें आने के बावजूद अधिकारी इसको लेकर बेखबर हैं। कीटनाशकों के जहर किसानों की मौतें या बीमार न हों इसको लेकर कोई सुध नहीं ली जा रही है।

Related posts

Leave a Comment