दिल्ली में किसानों पर लाठीजार्च यानी केंद्र की किसान हितैशी होने की खुली पोल, कैसे यहां पढ़ें

शायद इसे ही ‘आ बैल मुझे मार’ और ‘उंट पर कुत्ता काटना’ कहते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने अनेक निर्णयों एवं घोषणाओं से पिछले पांच-छह महीने से यह साबित करने को आमादा हैं कि उनकी सरकार किसान हितैशी है। वे 2022-24 तक देश के किसानों की आमदनी दोगुना होते देखना चाहते हैं। मगर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के दिन दिल्ली पुलिस द्वारा उत्तर प्रदेश के बॉर्डर पर किसानांे पर जिस तरह लाठियां,आंसू गैस के गोले और पानी की बौछाकर की गई उससे मोदी…

Read More

मध्य प्रदेश के किसानों के लिए लगाई जा रही ‘पाठशाला’….क्यों, यहां जानें

मध्य प्रदेश में किसानों के लिए पाठशाला लगाई जा रही है। वे उन्नत खेती के गुर सीख सकें, इसके लिए ‘किसान खेत पाठशाला’ नाम से कार्यक्रम शुरु किया गया है, जिसका पहला चरण 20 जुलाई को पूरा हो गया। अब दूसरे चरण की ‘क्लास’ लगाने की तैयारी है। दरअसल, इसके पीछे शिवराज चौहान सरकार की मंशा है, मध्य प्रदेश के किसान परंपरागत खेती की बजाए उन्नत और आधुनिक खेती पर जोर दें, ताकि कृषि और सूबे के किसानों की दशा और दिशा सुधार सके। किसान खेत पाठशालाएं पहले चरण में…

Read More

राहुल का मजाक उड़ाने के चक्कर में धुंधलाया मोदी का किसान हितैशी चेहरा….कैसे….यहां पढ़ें

‘‘ अविश्वास प्रस्ताव की वजह पूछी तो गले ही पड़ गए।’’उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में योगी सरकार की ओर से आयोजित ‘किसान कल्याण रैली’ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण का यह अंश दरअसल, उस संदर्भ में है जब लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान केंद्र को खरी-खरी सुनाने के बाद एक बहाने से’ अपनी सीट से उठकर मोदी से गले मिलने पहुंच गए थे। राहुल की इस हरकत पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने ऐतराज जताया है और भारतीय जनता पार्टी इसका लगातार मजाक उड़ा रही है। असल में,…

Read More

किसानों की आय दोगुना करने की केंद्र सरकार की योजना में आमजन भी शामिल …कैसे…यहां पढ़ें

केंद्र सरकार ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। इसेे पाने के लिए कई तरह की योजनाओं पर काम किया जा रहा है। इसके साथ इस लक्ष्य को प्राप्त करने की खातिर अब योजना में आम लोग भी शामिल कर लिए गए हैं। किसानों की आमदनी कैसे दोगुनी हो, इस सवाल का हल ढूंढने के लिए जनता से राय मांगी जा रही है। कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री पुरूषोत्तम रूपाला ने बताया कि सरकार ने किसानों की आय दोगुना करने से संबंधित मुद्दों…

Read More

मोदी सरकार का एक और ‘किसान पटाउ’ कदम, गन्ने का लाभकारी मूल्य 20 रुपये बढ़ाया

चुनावी वर्ष में किसानों पर राहत की बारिश हो रही है। केंद्र सरकार ने एक बार फिर कृषक वर्ग को सुकून देने वाला सामाचार सुनाया है। इस दफा देश के गन्ना किसानों को राहत देने का ऐलान किया गया है। केंद्रीय कैबिनेट ने फसल की कीमत में बढ़ोतरी का फैसला लेते हुए गन्ने का उचित एवं लाभकारी मूल्य यानी एफआरपी 20 रुपये प्रति कुंतल बढ़ा दिया है। नरेंद्र भाई मोदी के कैबिनेट के इस फैसले से गन्ना कीमत 255 रुपये प्रति कुंतल से बढ़कर 275 रुपये प्रति कुंतल हो जाएगी।…

Read More

अब कई फ्लेवर में मिलेगी आदिवासियों की शराब…कैसे, यहां पढें

आदिवासियों का प्रिय पेय ‘महुआ’ यानी लोकल मदिरा जल्दी ही अलग.अलग फलों के फ्लेवर में बाजार में मिलने लगेगी। ट्राइबल कॉपरेटिव मार्केटिंग डेवलेपमेंट फेडरेशन आफ इंडिया ;ट्राइफेडद्ध आदिवासियों की वित्तीय सेहत सुधारने के लिए आइआइटी दिल्ली के साथ मिल कर आदिवासियों के इस पेय को तरह.तरह के फ्लेवर के साथ बाजार में उतारने की तैयारी में है। सब कुछ सही रहा और लाइसेंस आदि मिल गया तो तीन चार महीने में ये बाजार में उपलब्ध होगी । ट्राइफेड भारत के आदिवासियों की आर्थिक हालत सुधारने और उनकी आमदनी बढ़ाने के…

Read More

कीटनाशक दवाओं के बाजार में विदेशी माल का बढ़ता दबदबा…किसानों को चुकानी पड़ रही उंची कीमत

राजेश अभय कीटनाशक बनाने वाली कंपनियों के संगठन ने कीटनाशकों के लिए आयात पर बढ़ती निर्भरता पर चिंता जताई है। उसका कहना है कि आयातित कीटनाशकों में प्रयुक्त होने वाली दवाओं के पंजीकरण की आवश्यकता खत्म होने से देश में कीटनाशकों का आयात तेजी से बढ़ा है। इससे घरेलू विनिर्माताओं के लिए समस्या उत्पन्न हुई है और किसानों आयातित रसायन के लिए महंगा दाम चुकाना पड़ रहा है।पेस्टीसाइड मैनुफैक्चरर्स एंड फार्मूलेटर्स एसोसिएशन आफ इंडिया के अध्यक्ष प्रदीप दवे ने कहा कि संप्रग शासनकाल के दौरान वर्ष 2007 में कीटनाशकों में…

Read More

फसल बीमा योजना की सफलता को पेशेवर टीम लगाने की तैयारी….कहां होगा कार्यालय और कौन होगा टीम में ?

केंद्र सरकार ने वर्ष 2018-19 में फसल बीमा योजना पीएमएफबीवाई में तेजी लाने और इसके दायरे का विस्तार सकल फसल क्षेत्र के 50 प्रतिशत तक बढ़ाने के लिए एक नई पेशेवर टीम बनाई है। एक सरकारी अधिकारी ने यह जानकारी दी। उनका कहना है कि 28 करोड़ रुपए की लागत से कार्यक्रम प्रबंधन इकाई ;पीएमयूद्ध स्थापित करने में मदद के लिए परामर्शदाता के रूप में दो साल के लिए संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम ;यूएनडीपीद्ध को अनुबंधित किया गया है। अधिकारी ने कहा कि यूनिट में 15 पेशेवर होंगे जिन्हें यूएनडीपी…

Read More

ईरान के ‘मोहसिन’ ने बर्बाद कर दिया हरियाणा और पंजाब के चावल निर्यातकों को….कैसे, यहां जाने

मलिका असगर हाशमी ईरान की चावल की सबसे बड़ी आयातक कंपनी मोहसिन की चालबाजियांे से हरियाणा और पंजाब के बासमती चावल के कारोबारी सड़क पर आ गए हैं। कई चावल मिलें बंद हो गई हैं और कुछ पर ताला लगने की नौबत आ गई है। पिछले छह-सात सालों में मोहसिन अपना साम्राज्य खड़ा करने मंें सफल रही, दूसरी तरफ भारत के चावल निर्यातकों की बर्बादी का दौर भी शुरू हो गया। स्थिति है कि कंपनी पर हरियाणा और पंजबा के चावल कारोबारियों का तकरीबन दो हजार करोड़ रूपये बकाया है।…

Read More

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बनेंगे ‘किसान रत्न’ …कैसे, यहां जानें

मलिक असगर हाशमी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आगामी चुनावों में ‘किसान रत्न’ के तौर पर पेश करने की तैयारी है। इसके लिए भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाइयों की बैठकों में प्रस्ताव पास कराने का क्रम शुरू हो गया है। भारत में मोदी जैसा कोई और नहीं, यह जताने के लिए केंद्र की ओर से खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 200 रूपये प्रति कुंतल इजाफा करने के ऐलान के साथ भाजपा शासित प्रदेशों की ओर से राष्ट्रीय समाचार पत्रों में विज्ञापन देकर ‘मोदी वंदन’ की होड़ मची है।…

Read More