खट्टर ने पीएम मोदी को ‘किसान नेता’ साबित करने के लिए सारी हदें पार कीं… किसान नाखुश

केंद्र द्वारा खरीफ फसलों के समर्थन मूल्या में व्यापक बढ़ौतरी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘किसान नेता’ के तौर पर प्रोजेक्ट करने के लिए भारतीय जनता पार्टी की ओर से किए जा रहे प्रयासों पर हरियाणा में कुछ ज्यादा अमल हो रहा है। प्रदेश की खट्टर सरकार की ओर से पीएम मोदी को देश का सबसे बड़ा ‘किसान हितैशी’ जाहिर करने को ग्रामीण इलाकों में बड़े-बड़े होंडिंग लगाए गए हैं। इसके अलावा दूर-दराज तक जाने वाली हरियाणा रोडवेज की बसों पर ऐसे ही बड़े आकार के पोस्टर चस्पां करावाए…

Read More

‘कंबाईन हारवैस्टर’ की नंबर एक कंपनी ‘प्रीत’ ने किसानों के लिए नई स्कीम की लांच….क्या है….यहां पढ़ें

खरीफ फसलांे के सीजन के मद्देनजर देश की नंबर एक कंबाईन हारवैस्टर कंपनी ‘प्रीत’ ने किसानों की सुविधा के लिए कई नई स्कीमें लांच की हैं। कंपनी की ओर से कंबाई हारवैस्टर के पार्ट-पूर्जे 24 घंटे उपलब्ध कराने को अलग से प्रबंध किया गया है। इसके अलावा मशीन की खरीद के लिए बैंकों तथा अन्य प्राइवेट फाइनेंस की मदद से कृषकों को लोन की सुविधा भी उपलब्ध कराई जा रही है। हारवैस्टर की खरीद पर हरियाणा सरकार ने सब्सिडी देने का ऐलान किया है। ‘प्रीत’ का दावा है कि उसके…

Read More

कीटनाशक दवाओं के बाजार में विदेशी माल का बढ़ता दबदबा…किसानों को चुकानी पड़ रही उंची कीमत

राजेश अभय कीटनाशक बनाने वाली कंपनियों के संगठन ने कीटनाशकों के लिए आयात पर बढ़ती निर्भरता पर चिंता जताई है। उसका कहना है कि आयातित कीटनाशकों में प्रयुक्त होने वाली दवाओं के पंजीकरण की आवश्यकता खत्म होने से देश में कीटनाशकों का आयात तेजी से बढ़ा है। इससे घरेलू विनिर्माताओं के लिए समस्या उत्पन्न हुई है और किसानों आयातित रसायन के लिए महंगा दाम चुकाना पड़ रहा है।पेस्टीसाइड मैनुफैक्चरर्स एंड फार्मूलेटर्स एसोसिएशन आफ इंडिया के अध्यक्ष प्रदीप दवे ने कहा कि संप्रग शासनकाल के दौरान वर्ष 2007 में कीटनाशकों में…

Read More

अब टायर कंपनियां किसानों को झटका देने की तैयारी में….क्योंकि

देेश के किसान चौतरफा मुसीबतों से घिरे हैं। कभी प्राकृतिक आपदा उन्हें परेशानी में डाल देती है तो कभी सरकारी नीतियां उनका दम निकाल देती हैं। डिजल की बढ़ती कीमतों से भी कृषि कार्यों पर विपरीत प्रभाव पड़ा है। रही-सही कसर अब टायर कंपनियां निकालने की तैयारी में हैं। जल्द ही टायरों की कीमत डेढ़ से तीन गुना बढ़ने वाला है। इससे ट्रैक्टरों के टायर और जोत और कटाई में काम आने वाले वाहनों के टायरों की खरीद पर सीधा असर पड़ेगा। आल इंडिया टायर डीलर्स फेडरेशन का कहना है…

Read More

ब्रेकिंग न्यूज: कच्चे जूट का समर्थन मूल्य बढ़ा-जानिए कितना

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति की बैठक में 2018-19 के लिए कच्चे जूट के न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि का निर्णय लिया गया है। पिछले वर्ष के मुकाबले प्रति क्विंटल 200 रूपये की बढ़ौतरी की गई है। औसत क्वालिटी (एफएक्यू) के कच्चे जूट का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाकर 3,700 रुपये प्रति क्विंटल किया गया है। 2017-18 में समर्थन मूल्य प्रति क्विंटल 3,500 रुपये था। सरकार की ओर से कहा गया कि न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ौतरी से किसानों को बेहतर लाभ मिलेगा। उनकी…

Read More

एक से 10 जून तक शहरों में दूध, सब्जी सप्लाई बंद रहने की खबर सही है….यहां जाने क्यों

देश के किसानों के दस दिनों तक राष्ट्रीयव्यापी हड़ताल पर रहने की खबर सही है। इसके लिए तारीख की घोषणा कर दी गई है। एक से 10 जून तक भारत के किसान देशव्यापी हड़ताल पर रहेंगे। इस दौरान शहरों में दूध, सब्जी की सप्लाई बंद रहेगी। बंद पर रणनीति तय करने को किसान संगठनों की एक आवश्यक बैठक 18 अप्रैल को दिल्ली में होने जा रही है। पहले किसानों के देशव्यापी पहड़ताल को अफवाह मानकर खारिज कर दिया गया था। आम लोग इसे दस अप्रैल की अगड़ों की हड़ताल की…

Read More

….इस बरसात समय से शुरू होगी खेती, कैसे यहां पढें…

सभी के लिए खुशखबरी है। इस साल मॉनसून के सामान्य रहने के आसार हैं। इस बारे में एक अनुमान पहले आ चुका है। अब मौसम विभाग ने जून से सितंबर के दरम्यान दक्षिण.पश्चिम मॉनसून सीजन के दौरान बारिश का पूर्वानुमान जारी किया है। अर्थात, इस बार समय से मौसमी खेती शुरू होगी। मौसम विभाग का कयास है कि पिछले दस साल के औसत के मुकाबले इस दफा 97 प्रतिशत बारिश होगी। यह खबर किसानों के लिए राहत भरी है। हालांकि पिछले कुछ वर्षों से सूखे और बाढ़ की वजह से…

Read More

मोजेक इंडिया फाउंडेशन का कृषि वैज्ञानिको को सम्मान

कृषि में उत्पादन बढ़ाने के उद्देश्य से विशेष शोध के लिए मोजेक इंडिया फाउंडेशन द्वारा इस वर्ष के पुरस्कार डॉ. अबीर डे, डॉ. प्रताप भट्टाचार्य, डॉ. वी. के. सिंह को दिये गये हैं। यह पुरस्कार गुरूग्राम स्थित सहगल फाउंडेशन ऑडिटोरियम में मोजेक इंडिया और सहगल फाउंडेशन द्वारा संचालित कृषि ज्योति परियोजना के 10 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित एक विशेष समारोह में प्रदान किये गये। इससे पहले यह पुरस्कार एक शोधार्थी को उसके विशेष शोध के लिए दिया जाता था लेकिन इस बार तीन पुरस्कार तीन कृषि शोधार्थियों…

Read More

कृषि आधुनिकीकरण में कॉरपोरेट घराने की हिस्सेदारी नहीं

कृषि प्रधान प्रदेश हरियाणा के 90 लाख हेक्टेयर में खेती होने के बावजूद कृषि कार्यों एवं इसके उत्पादों को उन्नत बनाने में किसी कॉरपरेट घराने की अब तक न कोई हिस्सेदारी रही है और न ही दिलचस्पी। किसानों और प्रदेश सरकार की तरह यह वर्ग भी गेहूं, चावल के उत्पादन को घाटे का सौदा मानता हैं, इसलिए कुछ क्षेत्र में कान्ट्रैक्टर फार्मिंग से आगे इस वर्ग ने सोंचा ही नहीं। औद्योगिक संगठन एसोचैम के डायरेक्टर दिलीप शर्मा कहते हैं,‘‘कॉरपोरेट घराना कोई भी काम बिना लाभ-हानि के नहीं करता। प्रदेश सरकार…

Read More

‘‘इसा मेला तो कितै भी ना देखा, जित घुमाई की घुमाई और पढ़ाई की पढ़ाई।’’

यह कहना था गांव ददलाना से तृतीय कृषि नेतृत्व शिखर मेला देखने आई रीना का। रीना ने बताया कि उसके साथ आई महिलाएं भी यह मेला देखकर काफी प्रसन्न हैं। हरियाणा सरकार द्वारा कृषि उद्यमी कृषक विकास चैंबर के सहयोग से रोहतक में आयोजित किए गए तीन दिवसीय किसान मेला में जनसमुदाय का रेला आज अंतिम दिन भी थमने का नाम नहीं ले रहा था। हर किसी के जुबान पर एक ही बात थी कि काश यह मेला एक-दो दिन और चलता तो यहां से और ज्ञानवर्धक जानकारी लेकर जाते।…

Read More