भाखड़ा और पोंग बांधों के जलस्तर में ऐतिहासिक गिरावट …गंभीर चुनौती झेलने को तैयार रहें पंजाब, हरियाणा और राजस्थान

भाखड़ा और पोंग बांध में पानी की आवक में भारी गिरावट से दोनों बांधों के जलस्तर में ऐतिहासिक कमी दर्ज की गई है। इसके मद्देनजर इन बांधों से पानी लेने वाले राज्यों पंजाब, राजस्थान और हरियाणा के लिए गंभीर चुनौती खड़ी हो सकती है। भाखड़ा ब्यास प्रबंध बोर्ड के अनुसार भाखड़ा और पोंग बांध में पानी की आवक 19 जुलाई को पिछले साल के इसी दिन की तुलना में क्रमवार 80 और 38 फीसदी कम दर्ज की गई। इस कारण इन दोनों बांधों के जलाशयों में जलस्तर भी पिछले साल के इसी दिन की तुलना में 77.2 फीट और 36.88 फीट कम दर्ज किया गया।
प्रबंध बोर्ड के अनुसार, अब तक मानसून की अच्छी संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए भागीदार राज्यों को जरूरत का पानी छोड़ा जाता रहा है। अब संकटकालीन स्थिति में भागीदार राज्यों के सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंताओं, केन्द्रीय जल आयोग और मौसम विभाग के साथ तकनीकी समिति की आपात बैठकें माह में दो से तीन बार तक आयोजित की जा रही हैं। बोर्ड ने भागीदार राज्यों से अपील की है कि वर्षा जल को संरक्षित कर इसका अधिकतम उपयोग किया जाए। बोर्ड के अनुसार बांधों में पानी की आवक 20 सितंबर तक होती है। बोर्ड ने आशा व्यक्त की है कि तब तक बांधों में पर्यप्त पानी आएगा।

Related posts

Leave a Comment