आजमा कर देखिए….कुक्कुट पालन में मिलेगी राहत और स्वच्छ रहेगा पर्यावरण

गर्मियों में मुर्गी पालन जोखिम भरा काम है और पराली, धान के पुआल और गन्ने के पत्ते स्वच्छ पर्यावरण की राह का बड़ा रोड़ा। मगर थोड़ी सी समझदारी दोनों ही मसलों का हल निकाल सकती है। कृषि वैज्ञानिकों एवं पर्यावरणविदों की मानें तो पुआल, पराली और गन्ने के पत्ते का होशियारी और समझदारी से प्रबंधन कर गर्मियों में कुक्कुट पालन को होने वाले नुक्सान से बचाया जा सकता है, साथ ही फसलों के इन अवशेषों का सही इस्तेमाल कर पर्यावरण को नुक्सान होने से रोका जा सकता है। वैज्ञानिक कहते…

Read More