….इस बरसात समय से शुरू होगी खेती, कैसे यहां पढें…

सभी के लिए खुशखबरी है। इस साल मॉनसून के सामान्य रहने के आसार हैं। इस बारे में एक अनुमान पहले आ चुका है। अब मौसम विभाग ने जून से सितंबर के दरम्यान दक्षिण.पश्चिम मॉनसून सीजन के दौरान बारिश का पूर्वानुमान जारी किया है। अर्थात, इस बार समय से मौसमी खेती शुरू होगी। मौसम विभाग का कयास है कि पिछले दस साल के औसत के मुकाबले इस दफा 97 प्रतिशत बारिश होगी। यह खबर किसानों के लिए राहत भरी है। हालांकि पिछले कुछ वर्षों से सूखे और बाढ़ की वजह से खेती बुरी तरह प्रभावित है। जिसका खामयाजा आज भी देश के कई क्षेत्रों के किसानों को भुगतना पड़ रहा है। मौसम विभाग का अनुमान सही रहने पर इस बार मॉनसून किसानों को सराबारे कर जाएगा। विभाग के डीजी केजे रमेश ने बताया कि दक्षिण.पश्चिम मॉनसून सामान्य रहने से किसान राहत की सांस ले सकते हैं। पूर्वानुमान ऐसे वक्त आया है जब साउथ इंडिया के कई राज्य जल संकट से जूझ रहे हैं। इसके चलते केरल सरकार राज्य के 14 जिलों में से 9 को सूखा.ग्रस्त घोषित कर चुकी है। राज्य के प्रभावित जिलों में टैंकरों से पानी पहुंचाए जा रहे हैं। समय पर और अच्छा मॉनसून आया तो सबसे पहले केरल के सूखा प्रभावित किसानों को लाभ होगा, क्योंकि मॉसून का प्रवेश केरल से ही होता है। दक्षिण.पश्चिम मॉनसून आम तौर पर केरल 1 जून तक पहुंचता है। इस साल कब पहुंचेगा यह 15 मई तक साफ होगा। पिछले साल अक्टूबर से दिसंबर के बीच औसत से कम बारिश हुई थी। 2013 के बाद से कुछ राज्यों में सूखा पड़ चुका है। इस इलाके के 6 बड़े जलाशयों में सिर्फ 20 प्रतिशत पानी बचा है।

Related posts

Leave a Comment