अगर मानसूर पड़े कमजोर तो राज्य रहे तैयारः कृषि मंत्रालय

केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों के सभी मुख्यमंत्रियों को मानसून के फेल होने पर इससे निपटने को तैयार रहने को कहा है। कृषि मंत्री ने इस मामले में पत्र अपने राज्यों में तैयारियों की समीक्षा करने को कहा है।
पत्र में कहा गया है कि यदि मौसम फेल होता है तो किसानों को अधिक नुकसान न हो, इसके लिए तैयारी अभी से की जाए ताकि इसका प्रभाव किसानों पर कम किया जा सके। मौसम विभाग द्वारा खरीफ 2017 के दौरान मानसून से सम्बंधित प्रथम चरण का पूर्वानुमान जारी कर दिया गया है। मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार इस वर्ष दक्षिण पश्चिम मानसून अवधि में वर्षाताप दीर्धकालीन औसत की तुलना में 96 फीसदी रहने की संभावना है।

इसके अलावा कृषि मंत्री ने इन बिंदुओं पर समीक्षा करने को कहा हैः
-प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अधीन जिला सिंचाई योजनाओं की प्रगति समीक्षा
-महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अधीन जल संचयन एवं भूगर्भ जल रिचार्ज तथा संवधर्न के उपायों की प्रगति समीक्षा
-राज्य में सूखा प्रबंधन केंद्र की स्थापना तथा सूखे की निगरानी व्यवस्था
-सिंचाई नहरों की सफाई एवं मरम्मत, नलकूपों की मरम्मत, ट्रांसफार्मरों की व्यवस्था
-पेय जल हैंडपम्पो पेयजल योजनाओं की मरम्मत

केंद्रीय कृषि एंव किसान कल्याण मंत्री ने उम्मीद जताई कि किसान हित में समस्त उपयोगी कदम उठाए जाएंगे।

Related posts

Leave a Comment