किसानों के जी का जंजाल बना आलू!

उत्तर प्रदेश और पंजाब में आलू के किसान बेहाल हैं। बंपर पैदावार ने किसानों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। हालात ये है कि मंडियों में उन्हें आलू की लागत निकालना भी मुश्किल हो गया है। उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद, आगरा, बाराबंकी और कानपुर ये कुछ ऐसे इलाके हैं जहां आलू की जोरदार खेती होती है और इस साल भी इन इलाकों में आलू की भारी पैदावार हुई है। कई इलाकों में तो किसानों को ढुलाई भी जेब से देनी पड़ रही है। 200 रुपये क्विंटल से भी नीचे के भाव पर किसान आलू बेच रहे हैं।

पंजाब के जालंधर की मंडी में आलू की थोक कीमत 200 से नीचे आ गई है तो दिल्ली के आजादपुर मंडी में 420 रुपये प्रति क्विंटल है। जबकि पिछले वर्ष जालंधर की मंडी में यह कीमत 380-480 और आजादपुर मंडी में 690-715 रुपये प्रति क्विंटल थी। पंजाब और उत्तर प्रदेश के किसानों की शिकायत है कि चुनावी मौसम में सरकार की ओर से कोई पूछने भी नहीं आ रहा। फर्रूखाबाद में कुछ किसान कोल्ड स्टोरों का भी रुख करने लगे हैं। लेकिन कीमत को लेकर किसानों में काफी ज्यादा निराशा है।

आलू उत्पादन में उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जनपद का देश में विशिष्ट स्थान रहा है। यहां का आलू असम व बंगाल से लेकर मुंबई तक जाता है। जनपद में अधिकांश किसान आलू की फसल करते हैं। इस बार बंपर पैदावार और अन्य प्रदेशों की मंडियों में मांग न होने के कारण आलू मंदी के दौर से गुजर रहा है। नोटबंदी की मार से पहले ही टूट चुके आलू किसान इस बार गंभीर संकट में हैं। इस बार मुनाफा तो दूर फसल से लागत निकल पाना भी मुश्किल हो रहा है।

गतवर्ष शीतगृहों में क्षमता से अधिक आलू भंडारित किया गया था लेकिन देश की प्रमुख मंडियों में आलू की मांग न होने के कारण आलू बाजार वर्ष भर मंदी की चपेट में रहा। पुराना आलू मिट्टी के भाव बिक गया। किसानों ने कर्ज के रुपये से मंहगी खाद और बीज खरीदकर दोबारा फसल बोई।

इस बार बंपर पैदावार हुई लेकिन अन्य प्रांतों से अभी तक आलू की मांग नहीं आ रही है। इसके चलते आलू का भाव बढ़ नहीं पा रहा है। विधानसभा चुनाव भी आलू किसान पर भारी पड़ा। निर्वाचन आयोग की आचार संहिता के चलते नकद धन लेकर चलने में आ रही समस्या से भी किसान, व्यापारी व आलू आढ़ती प्रभावित हुए। इसी बीच सातनपुर मंडी भी चुनाव प्रक्रिया के कारण एक सप्ताह बंद रही। मंडी में विगत मंगलवार से काम शुरू हुआ तो काफी संख्या में किसान आलू लेकर मंडी आए। अचानक बढ़ी आमद के चलते आलू भाव जमीन पर आ गया। सोमवार को आलू भाव 250 रुपये से 315 रुपये क्विंटल तक रहा।

Related posts

Leave a Comment