किसानों को मनाने के लिये उपवास पर बैठे सीएम शिव राज सिंह, विपक्ष ने बताया ड्रामा

मंदसौर में हुए किसान आंदोलन के बीच मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान शनिवार से भोपाल के दशहरा मैदान में अनिश्चितकालीन उपवास शुरू कर दिया। किसानों को समस्याओं पर चर्चा के लिए उन्होंने खुला निमंत्रण दिया और कहा, सरकार किसानों को सही कीमत दिलाएगी। नया आयोग फसलों की सही कीमत तय करेगा। विपक्ष ने सीएम के उपवास और दशहरा मैदान से सरकार चलाने के फैसले को महज नौटंकी करार दिया है। कांग्रेस का कहना है कि चौहान को नौटंकी करने के बजाय किसानों की समस्याओं को सुनकर उन्हें दूर करना चाहिए।
उपवास पर बैठे सीएम ने कहा कि प्रदेश में हर वर्ग का कल्याण हो, हमारा एक ही लक्ष्य रहा है- प्रदेश का विकास। मुख्यमंत्री बनते समय मेरी प्राथमिकता किसान भाई-बहन रहे। जब जब किसानों की बात आयी है सीएम आवास छोड़कर किसानों के बीच गया हूं। मुख्यमंत्री बना तो साढ़े सात लाख हेक्टेयर में सिंचाई होती थी, अब ये रकबा 40 लाख हेक्टेयर तक बढ़ चुका है। खेतों में पानी पहुंचाने में हमने कोई कसर नहीं छोड़ी। हमने 18 प्रतिशत कर्ज घटाकर शून्य प्रतिशत कर दिया। दस प्रतिशत पर लोन दिया। किसानों को पर्याप्त राहत देने की कोशिश की।

इसी बीच मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने कहा, जो जैसा व्यवहार करेगा, उसके साथ वैसे ही निपटा जाएगा। किसानों के कर्ज माफी का कोई सवाल ही नहीं उठता मैं पहले भी इसके पक्ष में नहीं था और अब भी नहीं हूं। कृषि मंत्री ने राहुल गांधी के मंदसौर में आने पर भी सवाल उठाये। उन्होंने कहा कि यह आंदोलन अब किसानों का नहीं रहा। राहुल गांधी यहां क्यों आए थे, उनका जन्म मप्र में हुआ है क्या?

Related posts

Leave a Comment