जम्मू-कश्मीर में यूरोपीय तकनीक से बढ़ेगा सेब का उत्पादन, मिलेगा रोजगार

जम्मू और कश्मीर के बागवानी विभाग ने उच्च घनत्व वाले सेब के पौधों के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए यूरोपीय प्रौद्योगिकी अपनाने का निर्णय लिया है। विभाग की इस नई पहल से बड़े पैमाने पर सेब उत्पादन में मदद मिलने और घाटी में पर्याप्त रोजगार के अवसर पैदा होने की उम्मीद है। यह यूरोपीय प्रौद्योगिकी है ट्रेलीस सिस्टम। शेरी कश्मीरी यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर साइंस एंड टेक्नोलॉजी (एसकेयूएएसटी) के विश्वविद्यालय कैंपस में ट्रेलीस सिस्टम का ट्रायल हो चुका है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, प्रयोग सफल होने पर ही जम्मू-कश्मीर के बागवानी विभाग ने इसे अपाने का निर्णय लिया है। ट्रेलीस सिस्टम दरअसल, सीढ़ीनुमा खेती का तरीका है।

Related posts

Leave a Comment