दिल की बीमारी मेें केले खाने से न डरें

दिल से संबंधित रोग होने पर आम तौर से डॉक्टर केले खाने से बचने की सलाह देते हैं। मगर इसके उलट ऑस्ट्रेलिया के मेलबॉर्न से एक खबर आई है। एक ताजे अध्ययन में बताया गया है कि केले न केवल स्वादिष्ट होते हैं, स्वस्थ के नजरिए से भी बेहद लाभदायक हैं। इसकी मदद से दिल के रोग की गंभीरता कम की जा सकती है। अध्ययन के मुताबिक, दिल के दौरे और स्ट्रोक को रोकने में केले का सेवा मददगार साबित हो सकता है। समाचार एजेंसी एएनआई की मानें तो वैज्ञानिकों ने पाया कि फल में मौजूद पोटेशियम धमनियों की कठोरता और संकुचितता का मुकाबला करने में कारगार है। पोटेशियम के अन्य अच्छे स्रोतों में पेर्निप्स, बीज, मछली और पोल्ट्री शामिल हैं।
शोधकर्ताओं का कहना है कि हृदय रोग के जोखिम को लेकर चूहों पर अध्ययन एवं विश्लेषण से केले के प्रभावों का पता चला। मानव में दिल के दौरे और स्ट्रोक को रोकने में केला महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। हालांकि बहुत अधिक खाने से पेट में दर्द, मतली और दस्त की समस्या हो सकती है। ब्रिटिश हार्ट फाउंडेशन के डॉक्टर माइक नैपटन का कहना है कि चूहों में अध्ययन से पता चला कि पर्याप्त पोटेशियम खाने से धमनियों की जटिलता रोकी जा सकती है। एनएचएस की सलाह है कि रोज दो केले खाना लाभदायक है। कुछ इसी तरह के लाभ आलू, ब्रोकोली, स्प्राउट, बीज, मछली और मुर्गी के सेवन से संभव है।

Related posts

Leave a Comment