दिवाली पर समाधि बनाकर किसानों ने जलाए दीप

राजस्थान में भूमि अधिग्रहण के खिलाफ दिवाली पर भी किसानों का आंदोलन जारी रहा। आंदोलन कर रहे किसानों ने विरोध के लिए अपनी समाधि बनाकर उसमें दीये जलाये। पिछले दो सप्ताह से अधिक समय से आंदोलन कर रहे किसानों ने दिवाली पर विरोध का अनोखा तरीका अपनाया।  दिवाली पर खुद को गड्ढों में आंशिक रूप से दफन कर दीप जलाते हुए प्रदर्शन किया। किसानों ने अपने इस प्रदर्शन को ‘जमीन समाधि सत्याग्रह’ का नाम दिया है।
किसानों का कहना है कि जयपुर के नींदड़ में किसानों से आवास परियोजनाओं में जमीन देने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। जिसका किसान विरोध कर रहे हैं। किसानों को इस अधिग्रहण के खिलाफ विरोध करते हुए दो सप्ताह से अधिक समय हो गया है।
किसानों का आरोप है कि, जयपुर विकास प्राधिकरण हाउसिंग प्रोजेक्ट बनाने के लिए उनकी जमीनें ले रहा है। प्राधिकरण किसानों की 1350 बीघा जमीन पर कॉलोनी बनाना चाहता है। किसानों ने गांधी जयंती के मौके पर इस जमीन समाधि सत्याग्रह की शुरुआत की थी। इसमें बुजुर्गों के साथ महिलाएं भी समाधि ले रही हैं। हर दिन किसान खुद को जमीन के अंदर गाड़कर विरोध करते हैं। किसानों का कहना है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं हो जाती तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा।

Related posts

Leave a Comment